सऊदी अरब में Iqama का महत्व क्या है?

सऊदी अरब में Iqama का महत्व क्या है?

भारतवर्ष से बहुत से लोग एक बहुत बड़ी संख्या में  सऊदी अरब जाते हैं, वह अपने परिवार का पालन पोषण करने के लिए  सऊदी अरब पैसा कमाने जाते हैं, सऊदी में जो भी लोग काम करते हैं, उन्हें वहां iqama दिया जाता है, जैसे हमारे भारतवर्ष में हमारी पहचान के लिए पासपोर्ट होता है,  उसी प्रकार से सऊदी अरब में भी iqama होता है, यह वहां की सरकार द्वारा व्यक्तियों की पहचान करने के लिए होता है, जिसके नियम बहुत सख्त होते हैं।

Iqama फीस सऊदी अरब

सऊदी अरब में रहने वाले भारतीयों और दूसरे देशों के अन्य प्रवासियों को 2020 में iqama की फीस 1441 रुपए देनी होगी, इसके बाद आपको सऊदी अरब में काम करने के लिए 1000 सऊदी रियाल देनी होगी और  बीमा फीस 450 रियाल होगी, इन सब को टोटल मिलाकर देखा जाए तो आपको सऊदी अरब में काम करने के लिए 7200 रियाल देने होंगे।

सऊदी अरब Iqama की महत्वपूर्णता

जब आप सऊदी अरब जाते हो, तो आपका पासपोर्ट जमा कर लिया जाता है और आपको सऊदी अरब का iqama दे दिया जाता है, जिसकी मदद से आप वहां  काम कर सकते हो या बाहर कहीं घूम सकते हो।

सऊदी अरब जाने के लिए पासपोर्ट की जरुरत

कामगारों को iqama हर समय अपने साथ रखना होता है और यदि वह आपने साथ नहीं रखते हैं तो  वहां की सरकार उन्हें वहां पर काम करने की इजाजत नहीं देती और उन सभी लोगों को गिरफ्तार कर लेती है। iqama के ऊपर सरकार 11 अलग-अलग तरीकों से दंड देती है, इन सभी दंड में सबसे महत्वपूर्ण है, अगर आपका iqama खो जाता है, तो आप अपने घर वापस नहीं आ सकते हो।

Iqama के बिना कहीं नहीं घूम सकते सऊदी अरब में

पासपोर्ट जमा करने के बाद के कामगारों को iqama दिया जाता है , यदि iqama उनके पास नहीं होता तो उन्हें काम करने की इजाजत नहीं दी जाती , यह iqama उन्हें हर समय अपने साथ रखना होता है, वहां के सरकार के सख्त निर्देश है, कि जो भी व्यक्ति बिना iqama के घर से बाहर या काम पर जाए,  उसे अपने साथ iqama रखना जरूरी है,  यदि वह ऐसा नहीं करता है तो उसके ऊपर सख्त कार्यवाही की जाएगी।

इसलिए जो भी भारतीय कामदार सऊदी अरब जाते हैं, उन्हें अपने iqama को संभाल कर रखना होता है यदि वह ऐसा नहीं करते हैं, तो उन्हें भारत वापसी नहीं लौटने दिया जाता, क्योंकि उन्हें भारतीय पासपोर्ट के बदले में एक iqama नाम का पासवर्ड दिया जाता है, यह वहां की सरकार की आइडेंटिफिकेशन होती है ,  और यदि कभी गलती से किसी व्यक्ति का iqama खो जाता है, तो उन्हें पास्टपोर्ट  भी नहीं दिया जाता।

इसके मुताबिक वे कामा के बिना अपने वतन वापस नहीं लौट सकते हैं।

Iqama expiry

Iqama की एक्सपायरी या वैधता तिथि को जाने के लिए सिर्फ आपको iqama नंबर की आवश्यकता होती है, और आप बहुत ही आसानी से अपनी iqama की एक्सपायरी तिथि को देख सकते हो।

Iqama एक्सपायरी सऊदी अरब में रहने वाले प्रवासियों के लिए एक बहुत बड़ा चिंता का विषय बना हुआ है, क्योंकि जब हम सऊदी अरब में कुछ आवेदन फॉर्म भरते हैं,  तो हमें वहां पर iqama  की अंतिम तिथि भी  भरनी  होती है।

Iqama expiry  डेट कैसे पता करें:-

 यदि आप अपने iqama की एक्सपायरी डेट को पता करना चाहते हो, आपको इस moi की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा।

  1. सबसे पहले आपको यहां अपनी सुविधा के अनुसार भाषा का चयन करना है।
  2.  अब आप इलेक्ट्रॉनिक इंक्वायरी पर जाएं, वहां पर आप मेनू के बटन पर क्लिक करके पासपोर्ट के ऑप्शन पर जाएं।
  3.  पासपोर्ट पर क्लिक करने के बाद आपको एक iqama expiry service का ऑप्शन मिलेगा, आपको उसे सेलेक्ट करना है।
  4. अब यदि आप iqama की जानकारी एकत्रित करना चाहते हो, तो उसका नंबर आपको यहां डालना होगा।
  5.  अब आपको दूसरे बॉक्स में कैप्चा कोड को डालना होगा।
  6.  उसके बाद आप ऊपर क्लिक करें और अब यहां से आप अपने iqama की एक्सपायरी डेट को बहुत ही आसानी से देख सकते हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Iqama Expiry